इन महिलाओं बनाया अपने हौसलों से सबसे अलग कैरियर में मुकाम

[nextpage title=”1″ ]

Unique Career Choice of Indian Women in Hindi

women career

watch महिलाओं बनाया अपने हौसलों से सबसे अलग करियर में मुकाम | Unique Career Choice of Indian Women in Hindi : पहले समय में महिलाओं को केवल घर के कामकाज के लिए ही जरूरी समझा जाता था लेकिन वर्तमान समय में महिलाएं पुरुषों के कंधे से कंधा मिलाकर चल रही है और लगभग हर क्षेत्र में अपनी सफलता के नए-नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है. लगभग हर क्षेत्र में सफल होने के बाद भी कुछ जगह ऐसी थी जिन्हें महिलाओं के लिए योग्य नहीं समझा जाता था, लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी महिलाओं के बारे में जिन्होंने अपनी कैरियर चॉइस से सबको सकते में डाल दिया है और वह ऐसे कार्य व नौकरियां कर रही हैं जिनके बारे में कहा जाता था कि यह तो केवल सिर्फ पुरुषों के लिए ही बनी है.

हम सलाम करते हैं ऐसी महिलाओं को, जिन्होंने अपने हिम्मत और हौसले से पुरुषों को उनके ही गढ़ में चुनौती दी. आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ महिलाओं के बारे में:

 

1. शातभी बसु

काम : बारटेंडर

लैंगिक मापदंडों को तोड़ते हुए शातभी बसु ने एक ऐसे जॉब में अपना करियर बनाया जिसे पूरी तरह से पुरुष प्रधान समझा जाता था- बारटेंडिंग। 53 साल की शातभी बसु, आज ना सिर्फ देश की बेहतरीन बारटेंडर हैं बल्कि देश के प्रतिष्ठिक बारटेंडिंग इंस्टिट्यूट STIR की मालकिन भी हैं।

 

women career

2. नीरू और राधा

काम : टिकट चेकर

वेस्टर्न रेलवे के पास अब तक महिला टिकट चेकर्स का स्टाफ था लेकिन यह पहला मौका होगा जब लॉन्ग डिस्टेंस ट्रेनों में भी टिकट चेकर्स के रूप में महिलाएं सेवा देंगी। शुरुआत के लिए दो महिलाएं नीरू वाधवा और राधा अय्यर मुंबई-सूरत इंटरसिटी एक्सप्रेस पर फर्स्ट क्लास यात्रियों के टिकट चेक करेंगी। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर इस नई परंपरा की शुरुआत होगी।

कृपया अगले पेज पर क्लिक करे–>>

[/nextpage][nextpage title=”2″ ]

Unique Career Choice of Indian Women in Hindi

women career

3. प्रेमा रमप्पा नादपट्टी

काम : बस ड्राइवर

35 साल की प्रेमा साल 2009 से पहले तक नर्स का काम करती थीं। लेकिन पति की मौत के बाद उन्हें अपनी नौकरी छोड़नी पड़ी। अब उन्हें ऐसे काम की आवश्यकता थी जिसमें उन्हें अच्छे पैसे मिलें ताकि वह अपने 11 साल के बेटे और बूढ़ी मां की देखभाल कर सके। प्रेमा ने BMTC में अप्लाई किया था और उन्हें बेंगलुरु की पहली महिला बस ड्राइवर के तौर पर चुन लिया गया।

 

women career

4. रजनी पंडित

काम : प्राइवेट डिटेक्टिव

रजनी महाराष्ट्र की पहली महिला प्राइवेट डिटेक्टिव हैं जिन्होंने घर की चारदिवारी से बाहर निकलकर लीक से हटकर कुछ अलग काम करने की ठानी। रजनी ने 1983 में अपना पहले केस की तहकीकात तब की थी जब उन्होंने अपनी एक क्लासमेट को वैश्यावृत्ति के चंगुल से छुड़ाया था।

कृपया अगले पेज पर क्लिक करे–>>

[/nextpage][nextpage title=”3″ ]

Unique Career Choice of Indian Women in Hindi

women career

5. इशिता मालवीय

काम : सर्फर

इशिता, भारत की पहली प्रफेशनल फीमेल सर्फर हैं जिन्होंने साल 2007 से सर्फिंग की शुरुआत की। आज, अपने बॉयफ्रेंड तुषार के साथ इशिता, तटीय कर्नाटक में एक सर्फ क्लब ‘शाका सर्फ क्लब’ और एक कैंप भी चलाती हैं। इशिता की कोशिश है कि वह भारतीय कोस्टलाइन को इंटरनैशनल सर्फिंग डेस्टिनेशन के तौर पर प्रमोट करें।

 

women career

6. हर्षिनी कानहेकर

काम : फायरफाइटर

नागपुर के नैशनल फायर सर्विस कॉलेज से ग्रैजुएट करने वाली हर्षिनी, भारत की पहली और अकेली महिला हैं। उनका सपना यूनिफॉर्म पहनने का था और जब उन्होंने फायर फाइटिंग कोर्स के बारे में सुना तो उसे जॉइन करने से पहले एक बार भी नहीं सोचा। हर्षिनी जब भी कभी फायरफाइटिंग के लिए जाती हैं तो अपने इस बोल्ड कदम के लिए हर तरफ से उन्हें सराहना और तारीफ मिलती है।

कृपया अगले पेज पर क्लिक करे–>>

[/nextpage][nextpage title=”4″ ]

Unique Career Choice of Indian Women in Hindi

women career

7. शांति देवी

काम : ट्रक मकैनिक

8 बच्चों की मां, 50 साल की शांति देवी दिल्ली के बाहरी इलाके में रहती हैं और भारत की इकलौती महिला ट्रक मकैनिक हैं। दिल्ली के संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर में पति राम बहादुर के साथ मिलकर शांति देवी एक ऑटोमोबाइल वर्कशॉप चलाती हैं।

 

women career

8. शैल मिश्रा

काम : मेट्रो डाइवर

अजमेर की रहने वाली शैल ने बचपन से ही ट्रेन चलाने का सपना देखा था और उसका यह सपना साल 2012 में पूरा हुआ जब उसे दिल्ली में मेट्रो ट्रेन का ड्राइवर बनने का अवसर प्राप्त हुआ। शैल महज 23 साल की थीं जब उन्होंने पहली बार ट्रेन चलायी थी।

 

 

लेटेस्ट अपडेट व लगातार नयी जानकारियों के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करे, आपका एक-एक लाइक व शेयर हमारे लिए बहुमूल्य है | अगर आपके पास इससे जुडी और कोई जानकारी है तो हमे publish.gyanpanti@gmail.com पर मेल कर सकते है |
Thanks!
(All image procured by Google images)

[/nextpage]

GyanPanti Team

पुनीत राठौर, www.gyanpanti.com वेबसाइट के एडमिन हैं और यह Ad Agency में बतौर आर्ट डायरेक्टर कार्यरत हैं. इन्हें नयी-नयी जानकारी हासिल करने का शौक हैं और उसी जानकारी को आपके पास पहुचाने के लिए ही है ब्लॉग बनाया गया हैं. आप हमारी पोस्ट को शेयर कर इन जानकारियों को बाकी लोगो तक पहुचाने में हमारी सहायता कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *