5 रहस्यमयी मानवीय सरंचनाए (Mysterious Structure)

Share

5 Mysterious Structure in the World, Hindi

 

loading...

Mysterious Structure

5 रहस्यमयी मानवीय सरंचनाए | Mysterious Structure in the World, Hindi :

दुनिया में हजारों साल पुराने कई ढांचे ऐसे हैं, जिनकी उत्पत्ति या निर्माण के बारे में किसी भी पुरातत्व विशेषज्ञ, इतिहासकार या वैज्ञानिक के पास जवाब नहीं हैं। ये स्ट्रक्चर आज भी मानव के लिए बड़े तिलिस्म बने हुए हैं। इन स्थानों के बारे में कई वर्षों तक यह जानने की कोशिश की गई कि इन्हें किसने बनावाया होगा, क्यों बनवाया होगा या इनका उपयोग किसके लिए किया जाता था? ऐसे तमाम सवाल आज भी अनउत्तरित हैं।

हम आपको यहां ऐसे पांच रहस्यमय स्ट्रक्चर के बारे में यहां जानकारी दे रहे हैं।

 

1: मैक्सिको का टियाटिहुआकन शहर (Teotihuacan City of Mexico)

मैक्सिको सिटी (Mexico city) के ठीक बाहरी इलाके में टियाटिहुआकन स्थित है। यह पिरमिडों की एक खंडहर सिटी है। इस जगह का मूल नाम टियाटिहुआकन नहीं है। इसकी खोज एजटेक्स ने की थी और उसी ने यह नाम इस जगह को दिया था। दरअसल टियाटिहुआकन का अर्थ होता है प्लेस ऑफ द गॉड(Palce of God)। एजटेक्स का मानना था कि यह शहर मध्ययुग में अचानक प्रकट हुआ।

500 वर्ष पहले यह जगह खंडहर में बदल गई है। हालांकि इसके अस्तित्व को लेकर कोई भी अन्य अवधारणा प्रचलित नहीं है क्योंकि लिखित में भी इसके बारे में कुछ भी उपलब्ध नहीं है। फिर भी यह स्ट्रक्चर आज भी रहस्य बना हुआ है। इस बस्ती को देखकर अनुमान लगाया जा सकता है कि यहां 25000 लोग रहते रहे होंगे। इसका निर्माण अर्बन ग्रिड सिस्टम की तरह हुआ है, जिस तरह न्यूयार्क का हुआ है। यहां एक पिरामिड के अंदर जितनी भी हड्डियां मिली हैं, उससे पता चलता है कि बड़ी संख्या में यहां इंसानों का बलिदान हुआ होगा।

कृपया अगले पेज पर क्लिक करे–>>

loading...

Comments

Comments Below

Related Post

GyanPanti Team

पुनीत राठौर, www.gyanpanti.com वेबसाइट के एडमिन हैं और यह Ad Agency में बतौर आर्ट डायरेक्टर कार्यरत हैं. इन्हें नयी-नयी जानकारी हासिल करने का शौक हैं और उसी जानकारी को आपके पास पहुचाने के लिए ही है ब्लॉग बनाया गया हैं. आप हमारी पोस्ट को शेयर कर इन जानकारियों को बाकी लोगो तक पहुचाने में हमारी सहायता कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close