केवल दिल्ली में ही Odd Even नहीं, इन देशो में भी है ऐसे Rules

Share

Strange Traffic Rules like Delhi Odd Even Rule, Hindi

Traffic rules like delhi odd even rule

loading...

प्रदुषण कम करने का एक प्रमुख उपाय Odd Even नियम है, लेकिन क्या हैं यह ओड इवन नियम और कौन-कौन सी जगहों पर यह लागु किया है?  इन्ही सब सवालो के जवाब हम जानेंगे इस पोस्ट में :

लगातार दुनियाभर में गाड़ियो की संख्या बढ़ने से पॉल्यूशन लेवल भी बढ़ रहा है। पॉल्यूशन के दो कारण होते हैं धूल के कण और वाहनों से निकलने वाला धुआं। यही वजह है कि दुनियाभर में अब पॉल्यूशन कंट्रोल करने के लिए मुहिम चलाई जा रही है। वर्तमान में तो पूरा उत्तर भारत स्मोग की भेंट चढ़ चूका हैं, भारत के पढ़े-लिखे लिबरल टाइप गवारों ने पिछले दिनों प्रदुषण के नाम पर दिवाली के पटाखों पर खूब नौटंकी की और इन्हें बंद करवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट तक चले गये लेकिन नवम्बर शुरू होते ही प्रदुषण की हकीकत सामने आ चुकी हैं और जिस तरह से मक्कारी की हद तक जाकर पटाखे बैन करवायें गये उसकी भी कलाई खुल चुकी हैं | खैर यह एक अलग विषय है, जिस पर फिर कभी बात करेंगे |

जानिए किन देशों ने पॉल्यूशन कंट्रोल करने के लिए लागू किए सख्त कानून :

Strange Traffic Rules like Delhi Odd Even Rule in Hindi :

 

1. कोपेनहेगन, डेनमार्क

Traffic rules like delhi odd even rule

ट्रैफिक न होने की स्थिति में, यहां अपने आप ट्रैफिक लाइट बंद हो जाती है। पार्किंग की तलाश के लिए भटकने की बजाए, यहां आप ऐप से नज़दीकी पार्किंग की जगह तलाश सकते हैं।

2025 तक कार्बन उत्सर्जन कम करने के लिए, यहां के 40% निवासी साइकिल का इस्तेमाल करते हैं।

प्रदूषण की समस्या को कम करने के लिए कोपेहेगन में हवा की ताकत, बायोमास फ्यूल और कार की बजाए साइकिल इस्तेमाल की मुहिम शुरु की गई। इससे एक ग्रीन कल्चर की शुरुआत हुई ताकि कार्बन उत्सर्जन में कमी की जा सके।

कृपया अगले पेज पर क्लिक करे–>>

loading...

Comments

Related Post

GyanPanti Team

पुनीत राठौर, www.gyanpanti.com वेबसाइट के एडमिन हैं और यह Ad Agency में बतौर आर्ट डायरेक्टर कार्यरत हैं.
इन्हें नयी-नयी जानकारी हासिल करने का शौक हैं और उसी जानकारी को आपके पास पहुचाने के लिए ही है ब्लॉग बनाया गया हैं. आप हमारी पोस्ट को शेयर कर इन जानकारियों को बाकी लोगो तक पहुचाने में हमारी सहायता कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close