सबसे अनोखा मंदिर जहाँ होती है वहले मछली की पूजा

Share

Amazing Whale Fish Temple in Gujarat, Hindi

Anokha Mandir845

loading...

Amazing Whale Fish Temple in Gujarat, Hindi : भारत अपने अनोखेपन के लिए बहुत मशहुर है कभी यहां पर प्राचीन तथ्य मिलते हैं तो कभी यहां पर ऐसे मंदिर भी मिलते हैं जहां पर नाग पूजा करता है और मगरमच्छ रक्षा करता है।

आज हम एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें एक मछली की पूजा होती है और यह कोई साधारण मछली नहीं है यह बहुत विशाल मछली होती है जो कई हाथियों को मिलाकर के भी आकार में समा नहीं पाती है।

हिंदुस्तान में देवी-देवताओं के अनेकों मंदिर देखे होंगे, लेकिन शायद ऐसे मंदिर के बारे में अब तक न सुना होगा कि जहां ‘व्हेल’ मछली की हड्डियों की पूजा की जाती है।

व्हेल मछली पृथ्वी पर सबसे विशाल जीव होता है जिसका आकार 30 हाथियों के बराबर माना जाता है, कहा जाता है यह इतनी विशाल होती हैं कि यह 50 फीट तक की लंबाई को भी पार कर जाती हैं।

यह मंदिर लगभग 300 साल पुराना है, जिसका निर्माण मछुआरों ने करवाया था। मछली पकड़ने के लिए समुद्र में जाने से पहले यहां रहने वाले सारे मछुआरे इसी मंदिर में माथा टेकते हैं। यह मंदिर गुजरात में हैं।

 

मंदिर से जुडी है एक कथा

मंदिर से जुड़ी प्राचीन कथा कुछ यूं है कि लगभग 300 वर्ष पहले यहां रहने वाले प्रभु टंडेल नामक व्यक्ति को एक सपना आया था। टंडेल ने सपने में देखा कि समुद्र किनारे एक व्हेल मछली मृत अवस्था में है। जब उसने सुबह जाकर देखा तो सचमुच में एक मृत व्हेल मछली समुद्र किनारे पड़ी हुई थी। यह एक विशाल आकार की मछली थी, जिसे देखकर ग्रामीण चौंक उठे थे।

टंडेल ने स्वप्न में यह भी देखा था कि देवी मां व्हेल मछली का रूप धरकर तैरते हुए किनारे पर आती हैं। लेकिन किनारे पर आते ही उनकी मौत हो जाती है। यह बात टंडेल ने ग्रामीणों से बताई, और व्हेल को दैवीय अवतार मानकर गांव में एक मंदिर का निर्माण करवाया।

कृपया अगले पेज पर क्लिक करे–>>

loading...

Comments

Comments Below

Related Post

GyanPanti Team

पुनीत राठौर, www.gyanpanti.com वेबसाइट के एडमिन हैं और यह Ad Agency में बतौर आर्ट डायरेक्टर कार्यरत हैं. इन्हें नयी-नयी जानकारी हासिल करने का शौक हैं और उसी जानकारी को आपके पास पहुचाने के लिए ही है ब्लॉग बनाया गया हैं. आप हमारी पोस्ट को शेयर कर इन जानकारियों को बाकी लोगो तक पहुचाने में हमारी सहायता कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close