रोचक तथ्य : भारत के सर्वोच्च सैन्य पुरस्कार परमवीर चक्र के अमेजिंग फैक्ट्स

Share

Param Veer Chakra Facts in Hindi

a Param Veer Chakra 753

loading...

क्या हैं भारतीय सेना का सर्वोच्च सम्मान, क्या होता हैं परमवीर चक्र, किन्हें दिया जाता है यह परमवीर चक्र? इन्ही सब सवालों के जवाब जानने के लिए पढ़े हमारी आज की यह पोस्ट:

भारतीय सेना का सर्वोच्च सम्मान है परम वीर चक्र। यह वीरता का प्रतीक चिन्ह उन जांबाजों को दिया जाता है जो अपनी जान की परवाह किए बिना दुश्मन के खिलाफ विकटतम परिस्थितियों में अद्वितीय वीरता और साहस का परिचय देते हैं, फिर चाहे वो कारनामा भूमि, पानी या हवा कहीं भी किया हो। सुनने में यह शब्द जितने हल्के लगते हैं, इस बहादुरी का भार बहुत बड़ा होता है।

वीरता न कोई सिखा सकता, न ही कोई बता सकता। हिम्मत बताई नहीं, दिखाई जाती है। परम त्याग की भावना के साथ मातृभूमि के लिए मर मिटने की लिए तैयार सैनिकों के लिए परम वीर चक्र से बढ़ कर कोई सम्मान नहीं, मगर आज तक सिर्फ 21 जवानों को ही यह तमगा दिया गया है।

 

परम वीर चक्र से जुड़े कुछ मजेदार तथ्य आपको जानने ही चाहिए | Param Veer Chakra Facts in Hindi :

 

1. परम वीर चक्र सिर्फ चांदी से सजा एक तमगा नहीं है। यह एक अतिविशेष सम्मान है, जो अभी तक सिर्फ 21 सैनिको को ही इस के लायक समझा गया है, इनमें भी दो-तिहाई को मरणोपरांत।

 

2. थल सेना के 20 सैनिकों और वायुसेना के एक जवान को परमवीर चक्र से सम्मानित किया गया है। नेवी आज तक परम वीर चक्र से वंचित है।

 

3. परम वीर चक्र के साथ वीरों को 10,000 रुपए प्रतिमाह नकद पुरस्कार भी दिया जाता है।

 

4. परम वीर चक्र की डिजाइन स्विस युवती इवा लिंडा मेडे-डि-मारोस ने की थी। उन्होंने विक्रम खनोल्कर से विवाह किया था। शादी के बाद उन्होंने अपना नाम बदल कर सावित्री बाई कर लिया।

 

5. सावित्री ने पदक की डिजाइन के लिए हिन्दू कथाओं का सहारा लिया। उन्होंना साधारण बैंगनी रिबन और ऋषि दधिची के रूपांकन का प्रयोग किया। इसमें परम त्याग के चिन्ह के रूप में वज्र की चार प्रतिकृति का प्रयोग किया है।

 

b Param Veer Chakra 753

6. सावित्री बाई की बेटी के देवर, परम वीर चक्र प्राप्त करने वाले पहले सैनिक थे।

 

7. मेजर सोमनाथ शर्मा की शहादत के समय यह पदक सैन्य सम्मान में शामिल नहीं थी। यह 26 जनवरी 1947 को शामिल किया गया था, मगर लागू 15 अगस्त 1947 से हुआ था।

 

8. यह पदक कांस्य से बनाया जाता है। इस पदक में कमल के फूल के बीच में हिन्दी और अंग्रजी दोनों में ‘परम वीर चक्र’ गुदा होता है।

 

9. केवल दो परम वीर चक्र प्राप्तकर्ता आज भी सेना में अपनी सेवाएं दे रहे हैं – सूबेदार योगेंद्र सिंह यादव और नायब सूबेदार संजय कुमार

 

10. परम वीर चक्र प्राप्त करताओं को अपने नाम मे पहले ‘P.V.C.’ लगाने का अधिकार होता है।

इन्हें भी पढ़े:

क्रिकेटर जिन्होंने देश सेवा के लिए पहनी सेना की वर्दी

इन ऑपरेशन में भारतीय सेना ने दिखाया अपना पराक्रम

ये है भारतीय सेना की 13 रेजिमेंट जिनके सामने दुश्मन कांपते है

दुनियाँ की 10 सबसे शक्तिशाली सेनायें

जाने भारतीय सेना के इन जबरदस्त युद्धक वाहनों के बारे में

भारतीय सेना की वह 21 ब्रांच जिनके सामने कोई नहीं ठहर सकता

जाने, सबसे ठंडे युद्धक्षेत्र सियाचिन में सेना कैसे करती है हमारी रक्षा

दुनियाँ की सेनाओ की सबसे खतरनाक ट्रेनिंग प्रैक्टिस

एतिहासिक लोंगेवाला युद्ध – जहाँ 90 सैनिको ने चटाई 2000 पाकिस्तानियों को हार

देखे! भारतीय नौसेना के विध्वंसक युद्धपोत और पनडुब्बिया

जानिए, भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान और इनकी ताकत

भारतीय वायुसेना के रेस्क्यू ऑपरेशन

जानिये दुनिया की टॉप 10 नेवी सेनाओ के बारे में

 

 

लेटेस्ट अपडेट व लगातार नयी जानकारियों के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करे, आपका एक-एक लाइक व शेयर हमारे लिए बहुमूल्य है | अगर आपके पास इससे जुडी और कोई जानकारी है तो हमे publish.gyanpanti@gmail.com पर मेल कर सकते है |
Thanks!
(All image procured by Google images)

loading...

Comments

Comments Below

Related Post

GyanPanti Team

पुनीत राठौर, www.gyanpanti.com वेबसाइट के एडमिन हैं और यह Ad Agency में बतौर आर्ट डायरेक्टर कार्यरत हैं. इन्हें नयी-नयी जानकारी हासिल करने का शौक हैं और उसी जानकारी को आपके पास पहुचाने के लिए ही है ब्लॉग बनाया गया हैं. आप हमारी पोस्ट को शेयर कर इन जानकारियों को बाकी लोगो तक पहुचाने में हमारी सहायता कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close