एक ज्ञानपंती पाठक का शाहरुख खान के नाम ख़त

Share

 

loading...

Open Letter against Shahrukh Khan

Open Letter against Shahrukh Khan

(यह पोस्ट हमारे ज्ञानपंती पाठक में हमसे मेल की है तथा इसमें में व्यक्त किए गए सभी विचार इन्ही पाठक के है, हम इन पाठक को धन्यवाद देते हैं कि उंहोने अपने इस खत के लिए हमें उपयुक्त समझा)

शाहरुख खान जी अभी कुछ दिन पहले आपका 50वां जन्मदिन था तब मैंने अखबारों से लेकर न्यूज़ चैनल तक आपका वक्तव्य पढ़ा और देखा, आपने कहा कि “देश में असहिष्णुनता बढ़ रही है इसलिए इस वातावरण में पुरस्कार लौटाने वाले सभी व्यक्ति बहादुर है”, मुझे नहीं पता शाहरुख जी आपने ऐसा क्यों कहा बल्कि मुझे तो आश्चर्य से ज्यादा दुख हुआ क्योंकि में नियमित रूप से आप की खबरों में दिलचस्पी रखता हूं इसीलिए आपका यह वाक्य कहीं ना कहीं मुझे अजीब लगा | शाहरुख़ जी क्या में आपसे केवल वह दस घटनाएं जान सकता हूं जिसके कारण आप ने कहा की देश में असहिष्णुता बढ़ रही है | आप इतने बड़े सुपरस्टार हैं और अगर आपने इस तरह का वक्तव्य दिया है तो निश्चित ही आपकी निगाह में अनेको इस तरह की घटनाएं होगी अतः कृपया करके आप उन अनेक घटनाओं में से केवल 10 घटनाएं ही मुझे बता दे क्योंकि आपके देशभर एवं पूरी दुनिया में करोडो प्रशंसक हैं इसलिए आपकी एक-एक बात बहुत मायने रखती हैं तथा उन लोगो को भी यह पता लगना चाहिए कि उनके फेवरेट स्टार ने ऐसा क्यों कहा ?

शाहरुख जी आपके इस वक्तव्य के बाद मैंने बहुत से अखबार एवं पुरानी घटनाओं पर नजर डाली जो इस देश में काफी समय से होती आ रही है, आपने कहाँ की देश में असहिष्णुता बढ़ रही परन्तु कोई उदहारण नही दिया परन्तु ऐसी कई बाते है जिनके बारे में मेरे जैसा साधारण दिमाग वाला व्यक्ति व पूरा देश आपसे स्पष्टीकरण मांग रहा है, क्या आप निम्न बातों के लिए भी ऐसा ही व्यक्तव्य देंगे व क्या अपने गन्दी विचारधारा वाले मित्र लोगो से कहेंगे की निम्न बातो के लिए भी उन्होंने ऐसी बहादुरी क्यों नहीं दिखाई :

कृपया अगले पेज पर क्लिक करे–>>

loading...

Comments

Comments Below

Related Post

GyanPanti Team

पुनीत राठौर, www.gyanpanti.com वेबसाइट के एडमिन हैं और यह Ad Agency में बतौर आर्ट डायरेक्टर कार्यरत हैं. इन्हें नयी-नयी जानकारी हासिल करने का शौक हैं और उसी जानकारी को आपके पास पहुचाने के लिए ही है ब्लॉग बनाया गया हैं. आप हमारी पोस्ट को शेयर कर इन जानकारियों को बाकी लोगो तक पहुचाने में हमारी सहायता कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close