online shopping करते समय ध्यान रखने योग्य बाते

Share

Online Shopping Safety Tips in Hindi

Online Shopping Safety Tips

loading...

Online shopping करते समय ध्यान रखने योग्य बाते | Online Shopping Safety Tips in Hindi : भारत में इंटरनेट और स्मार्टफोन्स के तेजी से प्रसार के साथ ही ऑनलाइन शॉपिंग, ऑनलाइन टिकट बुकिंग और अन्य तरह के ऑनलाइन ट्रांजेक्शन का ट्रेंड भी तेजी से बढ़ता जा रहा है। भारत में अब ई-कॉमर्स अब एक बड़े ट्रेंड के रूप में उभर रहा है। लेकिन इसकी के साथ साथ हैकर्स का खतरा भी बढ़ता जा रहा है जो की कस्टमर की गोपनीय जानकारी चुराकर उन्हें आर्थिक रूप से नुक्सान पहुंचा रहे है। अधिकतर केस में हमारी खुद की जरा से असावधानी उन्हें ऐसा करने का मौका देती है।

यदि हम ऑनलाइन शॉपिंग व ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करते वक़्त कुछ सामन्य बातों का ध्यान रखे तो हम अपने पैसों को सुरक्षित रख सकते है। आज हम आपको यहाँ ध्यान रखने योग्य 10 ऐसी ही बाते बता रहे है।

 

1. एनक्रिप्शन का ध्यान रखें :

किसी भी वेबसाइट पर अपना कॉन्फिडेंशियल डेटा डालने से पहले चेक कर लें कि वेबसाइट एनक्रिप्शन का इस्तेमाल कर रही है या नहीं। एनक्रिप्शन के जरिए किसी भी डेटा को प्रोटेक्ट किया जाता है, ताकि नेटवर्क में ट्रैवल करते समय आपके डेटा को कोई नुकसान ना हो या फिर वह चोरी ना हो।

ऐसे चेक करें एनक्रिप्शन

कोई भी वेबसाइट एनक्रिप्टेड है या नहीं इसे चेक करने के लिए url देखें। यदि url में https है तो वह वेबसाइट एनक्रिप्टेड है। https में s का मतलब है security। यदि url में दाईं तरफ ‘बंद ताले’ का निशान हो तो भी वह वेबसाइट सुरक्षित है।

 

2. लेटेस्ट सिक्योरिटी सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करें :

बचाव इलाज से अधिक बेहतर होता है। यही बात ऑनलाइन ट्रांजेक्शन को मामले में भी लागू होती है। इंटरनेट पर मालवेयर, स्पैम और स्पाइवेयर की भरमार है। इन सबसे बचने के लिए बेस्ट प्रोटेक्शन वाले एंटीवायरस का इस्तेमाल करें। फ्री एंटीवायरस सिर्फ फिशिंग, मालवेयर और ट्रोजन से ही बचाव करते हैं। पूरी सुरक्षा के लिए एंटीवायरस का फुल वर्जन खरीद कर कम्प्यूटर में इंस्टॉल चाहिए।

 

3. सभी सॉफ्टवेयर के लिए ऑटो अपडेट का इस्तेमाल करें

आपने अपने कम्प्यूटर सिस्टम में जो भी एंटीवायरस सॉफ्टवेयर प्रोटेक्शन के लिए इंस्टॉल किया है, उसका ऑटो अपडेट होते रहना बहुत ही जरूरी होता है। इतना ही नहीं, आपके सिस्टम के अन्य सभी सॉफ्टवेयर का भी अपडेट होते रहना जरूरी है। जरा सोच कर देखिए, अगर इन सॉफ्टवेयर में कोई खराबी आ जाए तो आपका सिस्टम हैक करना किसी हैकर के लिए कितना आसान हो सकता है। इन सभी से बचने के लिए अपने सॉफ्टवेयर का ऑटो अपडेट फंक्शन ऑन रखना चाहिए।

यदि सॉफ्टवेयर ऑटो अपडेट सपोर्ट नहीं करता है तो कोई ऐसा सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करें, जो ऑटो अपडेट सपोर्ट करे। आप चाहें तो अपने सॉफ्टवेयर को समय-समय पर मैन्युअली अपडेट भी कर सकते हैं। हर रोज बहुत सारे वायरस नेटवर्क में पैदा हो रहे हैं, जिनसे बचने के लिए कंपनी समय-समय पर अपडेट देती है, जिसे इंस्टॉल करते रहना चाहिए।

 

4. अलग-अलग पासवर्ड का इस्तेमाल करें

क स्टडी से इस बात का पता चला है कि अधिकतर लोग अपने ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के लिए कॉमन पासवर्ड का इस्तेमाल करते हैं। ऐसा नहीं करना चाहिए। अगर किसी हैकर को आपके एक पासवर्ड का एक्सेस मिल गया तो वह आपके सभी अकाउंट तक अपनी पहुंच बना सकता है, क्योंकि आपने हर जगह एक ही पासवर्ड रखा है। इस वर्चुअल वर्ल्ड में खुद को सुरक्षित रखने के लिए हर ट्रांजेक्शन के लिए अलग-अलग पासवर्ड का इस्तेमाल करना चाहिए।

 

5. कैश ऑन डिलिवरी ऑप्शन 

यदि कोई वेबसाइट आपको कैश ऑन डिलिवरी का ऑप्शन देती है तो इसे इस्तेमाल करने से जरा भी नहीं हिचकें। ऐसा करने से सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि आपको ऑनलाइन पेमेंट नहीं करना होता है, जिससे आपके अकाउंट की जानकारियों के हैक होने का खतरा बिल्कुल कम हो जाता है। बहुत सारे लोग कैश ऑन डिलिवरी के ऑप्शन को नहीं लेते हैं, क्योंकि इसमें कुछ वेरिफिकेशन से गुजरना पड़ता है। ऐसी स्थिति में आलस न करते हुए कैश ऑन डिलिवरी का ऑप्शन लें और अपने अकाउंट को सुरक्षित करें।

कृपया अगले पेज पर क्लिक करे–>>

loading...

Comments

Comments Below

Related Post

GyanPanti Team

पुनीत राठौर, www.gyanpanti.com वेबसाइट के एडमिन हैं और यह Ad Agency में बतौर आर्ट डायरेक्टर कार्यरत हैं. इन्हें नयी-नयी जानकारी हासिल करने का शौक हैं और उसी जानकारी को आपके पास पहुचाने के लिए ही है ब्लॉग बनाया गया हैं. आप हमारी पोस्ट को शेयर कर इन जानकारियों को बाकी लोगो तक पहुचाने में हमारी सहायता कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close