मकान के सरल वास्तु उपाय, Vastu Tips in hindi

Share

Latest Vastu Tips in Hindi

vastu tips in hindi

क्या है वास्तु शास्त्र, मकान बनाते समय रखे इन बातो का ध्यान, क्या है जरूरी वास्तु उपाय, कौन कौन से होते है वास्तु दोष, कैसे करे वास्तु दोषों का निवारण, What is important Vastu tips in hindi| इन सभी सवालों के जवाब दिए गए है इसी पोस्ट में| आइये जानते हैं इनके बारे में :

loading...

 

वास्तु शास्त्र के अनुसार प्लाट :

1. प्लॉट खरीदते समय उस पर खड़े अनुभव करें। यदि आपको सकारात्मक अनुभूति हो तो ही वह प्लॉट खरीदें अन्यथा न खरीदें।

2. अगर आप बना हुआ मकान खरीद रहें हैं तो पता लगा लें कि वहाँ पहले रह चुका परिवार खुशहाल परिवार है या नहीं।

3. दरिद्रता या किसी मजबूरी के चलते बेचे जाने वाले मकान या प्लॉट को ना ही खरीदें तो बेहतर है। और अगर लेना ही है तो उसमें सावधानी बरतें।

4. जीर्ण-शीर्ण अवस्था वाले भवन न खरीदें।

5. मकान या प्लॉट को खरीदने से पहले जान लें कि वहाँ की भूमि उपजाऊ है या नहीं। अनुपजाऊ भूमि पर भवन बनाना वास्तु शास्त्र में उचित नहीं माना जाता है।

 

वास्तु दोष निवारण  उपाय :

1. घर का मुख्य द्वार किसी अन्य के घर के मुख्य द्वार के ठीक सामने न बनाएं ।

2. घर के आंगन में तुलसी का पौधा लगाएं और आंगन का कुछ भाग मिट्टी वाला भी रखें ।

3. ईशान कोण किसी भी मकान का मुख कहलाता है । अतः इस कोण को सदैव पवित्र रखना चाहिए ।

4. रसोई घर मुख्य द्वार के ठीक सामने न बनाएं । ऐसा होने से अतिथियों का आवागमन होता रहता है ।

5. पूजागृह, शौचालय व रसोईघर पास-पास न (Vastu Shastra Tips) बनवाएं ।

6. विधुत उपकरण आग्नेय कोण (दक्षिण-पूर्व) में रखें

7. घर में टूटे-फूटे बतरन, टूटा दर्पण, टूटी चारपाई न रखें । इनमें दरिद्रता का वास होता है । रात्रि में बर्तन झूठे न रखें ।

8. दर्पण, वास बेसिन व नल ईशान कोण में रखें. सैप्टिक टैंक वायव्य कोण या आग्नेय कोण में रखें ।

9. किसी भी मकान में दरवाजे व खिड़कियां ग्राउण्ड फ्लोर में ही अधिक रखें । उसके बाद प्रथम, दूसरी मंजिलों में कम करते जाएं ।

10. बच्चों के अध्ययन की दिशा उत्तर या पूर्व होती है । यदि बच्चे इन दिशाओं की ओर मुंह करके अध्ययन करें तो स्मृति बनी रहती है

11. घर में पोछा लगाते समय पानी में सांभर नमक या सेंधा नमक डाल लें । इससे कीटाणु पैदा नहीं होंगे ।

12. कभी भी बीम या शहतीर के नीचे न बैठें । इससे देह पीड़ा (खासकर सिर दर्द) होती है ।

13. जल निकास उत्तर-पूर्व में रखें ।

14. यदि घर में घड़ियां हैं और वे ठीक से नहीं चल रही हैं तो उन्हें ठीक करा लें । घड़ी गृह स्वामी के भाग्य को तेज या मंदा करती है ।

15. पूजागृह व शौचालय सीढ़ियों के नीचे न बनाएं ।

कृपया अगले पेज पर क्लिक करे–>>

loading...

Comments

Related Post

GyanPanti Team

पुनीत राठौर, www.gyanpanti.com वेबसाइट के एडमिन हैं और यह Ad Agency में बतौर आर्ट डायरेक्टर कार्यरत हैं.
इन्हें नयी-नयी जानकारी हासिल करने का शौक हैं और उसी जानकारी को आपके पास पहुचाने के लिए ही है ब्लॉग बनाया गया हैं. आप हमारी पोस्ट को शेयर कर इन जानकारियों को बाकी लोगो तक पहुचाने में हमारी सहायता कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close