मछलियों के बारे में रोचक तथ्य – Interesting facts about Fishes

[nextpage title=”1″ ]

Interesting facts about Fishes in hindi

2 fish facts 919

मछलियों के बारे में रोचक तथ्य

1. एक समुद्री Frilled शार्क का गर्भकाल 3 से 5 साल तक का होता है.

 

2. कुछ शार्क अपने जीवनकाल के दौरान अपने 30,000 दांत खो देती है.

 

3. एक Goldfish सिर्फ तीन सैकेंड़ तक कुछ याद रख सकती हैं

 

4. ब्राज़ील, कोलम्बिया, वैनेज़ुएला और पेरू में पाई जाने वाली इलेक्ट्रिक ईल (एक प्रकार की मछली) 400 से 650 वोल्ट तक करंट पैदा करती है।

 

5. विश्व में मछलियों की कम से कम 28,500 प्रजातियाँ पाई जाती हैं जिन्हें अलग अलग स्थानों पर कोई 2,18,000 भिन्न नामों से जाना जाता है। अंतर्राष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संगठन (IUCN) के मुताबिक कम से कम 1173 प्रजातियों पर विलुप्ति का खतरा मंडरा रहा है

 

6. उच्च घनत्व के कारण मृत सागर(Dead sea) में तैराकों का डूबना असंभव है इसी कारण इसमें कोई मछली जीवित नहीं रह सकती।

 

7. शार्के इस धरती पर 40 करोड़ साल से रह रही हैं.

 

8. डॉलफिन मछलियाँ पानी के नीचे भी 24 किलोमीटर तक की दूरी तक सुन सकती है.

 

9. जैलिफिश धरती पर 65 करोड़ सालो से रह रही है.

 

10. शार्क सोते और आराम करते समय भी गति करती रहती है

 

11. एक नीली व्हेल बिना खाए 6 महीने तक रह सकती है.

 

12. फैंगटूथ मछली केवल कुछ इंच लंम्बी होती है जबकि उसके दांतो का आकार मनुष्य के दांतों जितना होता है.

 

13. Mudskipper एक मछली है जो कि अपना अधिकतम समय पानी से बाहर रहती है और यह अपने पंखों पर चल सकती है. यह पानी से निकलने से पहले अपने गलफड़ो में थोड़ी सी मात्रा में पानी लेकर जा सकती है. यह अपनी गीली त्वचा के छिद्रों द्वारा भी सांस ले सकती है.

 

14. बिल्ली मछली 27,000 प्रकार से स्वाद ले सकती है जबकि मनुष्य केवल 7,000 तक के.

 

15. एक ‘फेफड़ा मछली’ पानी से कुछ साल तक बाहर जीवित रह सकती है. एक ‘फेफड़ा मछली’ के फेफड़े और गलफड़े दोनो होते हैं.

कृपया अगले पेज पर क्लिक करे–>>

[/nextpage][nextpage title=”2″ ]

Interesting facts about Fishes in hindi

1 fish facts 919

16. समुद्री घोड़ा मछली एकलोती मछली है जो कि बिलकुछ सीधे तैरती है.

 

17. महान सफैद शार्क जैसी मछलियां अपने शरीर का तापमान बढ़ा सकती है. यह उन्हें ठंडे पानी में शिकार करने में सहायता करता है.

 

18. अब तक की सबसे बुजुर्ग मछली ऑस्ट्रेलीअन ‘फेफड़ा मछली’ है जो कि 2003 तक 65 साल की आयु तक जीवित थी.

 

19. मछलियां एक दूसरे तक संदेश पहुँचाने के लिए कम गुणवत्ता वाले संदेशों के उपयोग करती है. जैसे कि कर्कश, बूम, फुफवार, सीटी, चरमराना, चीख और विलाप आदि.

 

20. मछलियों का जबड़ा उनकी खोपड़ी से जुड़ा नही होता. इसलिए कई मछलियां अपने शिकार को जबड़े द्वारा झपट लेती हैं.

 

21. बिजली सर्पमीन(सांप जैसी मछली) और बिजली मछलियों में एक घोड़े को मारने जितनी बिजली होती है.

 

22. शार्क एकलौती ऐसी मछलियां है जिनके पलकें होती है.

 

23. कुछ मछलियों के जबड़े में दांतो की कमी होती है पर चीज को टुकड़ों में करने के लिए उनके गले में चक्की जैसे दांत होते है जो कि खाई गई चीज को घिसा कर छोटे टुकडो में बांट देते हैं. ऐसे दांतो को गिल्टी दांत कहते हैं.

 

24. ज्यादातर मछलियों के पूरे शरीर पर स्वाद तंत्रकाएँ होती है जो कि उन्हें स्वाद का अनुभव कराती हैं.

 

25. एक अनुमान के अनुसार इंग्लैंड की एक तिहाई नर मछलियों का लिंग गंदे पानी के प्रदुषण के कारण बदल रहा है.

 

26. खारे पानी की मछली को स्वच्छ पानी में रहने वाली मछली से अधिक पानी की आवश्यका होती है. जब समुद्र का पानी मछली के अंदरूनी द्रव से ज्यादा खारा होता है तब मछली का अंदरूनी पानी तुरंत ही बाहर निकलने लगता है. अगर खारे पानी की मछलियां इस निकले पानी की पूर्ति नही करती तो वह एक आलुबुखारे की तरह हो जाएगी.

 

27. ज्यादातर मछलियों में नमक की थोड़ी सी मात्रा ही होता है. पर शार्के जब तक संमुद्र में जीवित रहती है उनका मांस संमुदर के जितने ही खारा होता है.

 

28. मछलियां अपने रंगो का उपयोग अपने क्षेत्र में अपने आप को बचाने के लिए करती है. जब आप उनका शिकार करने के लिए जाते है तब वह अच्छी तरह से पहचान जाती है कि कोई उन्हें ताक रहा है. कुछ मछलिया लहरों की तरंगो और पराबैंगनी किरणों को देख कर भी किसी चीज का अंदाजा लगा लेती है.

 

29. जिन मछलियों के पंख पतले और पूछ कटी-फटी हो तो वह बहुत तेज गति से बड़ी से बड़ी दूरी को भी कम समय में तय कर सकती है.

 

30. एक उड़ने वाली मछली ज्यादा से ज्यादा 6 मीटर समुंदर से उँची होकर 50 से 200 मीटर दूरी तक उड़ सकती है.

 

 

लेटेस्ट अपडेट व लगातार नयी जानकारियों के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करे, आपका एक-एक लाइक व शेयर हमारे लिए बहुमूल्य है | अगर आपके पास इससे जुडी और कोई जानकारी है तो हमे publish.gyanpanti@gmail.com पर मेल कर सकते है |
Thanks!
(All image procured by Google images)

[/nextpage]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *