जानिये किस अधार पर रखे जाते है खतरनाक तुफानो के नाम

Share

How To Create Cyclones Name in Hindi

1-cyclone-name-pi-123

loading...

Cyclones Name in Hindi – जानिये किस अधार पर रखे जाते है खतरनाक तुफानो के नाम : हैती के पश्चिमी तटों पर इस समुद्री तूफान मैथ्यू अपना कहर बरपा रहा है। वहां मूसलाधार बारिश होने के साथ ही समुद्र में लहरें काफी ऊंचाई से उठ रही हैं। इसके अलावा हवाएं भी 230 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही हैं। हैती से पहले दुनिया के कई भागों में तूफान यानी चक्रवातों ने अलग-अलग नामों से तबाही मचाई है। ऐसे में आइए जानें कैसे पड़ते हैं इन चक्रवातों के नाम

अलग-अलग नाम

वायुमण्डलीय दाब के चारों ओर जब गर्म हवाओं की तेज़ आंधी आती है तो उसे साइकोलोन यानि की ‘चक्रवात’ कहा जाता है। इन तूफानों को ‘हरिकेन’ या ‘टाइफून’ आदि कहा जाता है। हालांकि यहां पर एक बात यह बताना जरूरी है कि ‘चक्रवात’ ‘हरिकेन’ ‘टाइफून’ सभी एक ही जैसे हैं। बस इनके नामों में अंतर यह दुनिया के अलग-अलग भागों में आने की वजह से है। अंटलांटिक महासागर की ओर आने वाले तूफानों की पहुंच काफी ज्‍यादा होती है। यहां पर यह करीब 39 मील पर घंटे की गति से फैलते हैं। अंटलांटिक में इन तूफानों को हुरिकेन, प्रशांत में टाइफून और हिंदमहासागर की ओर आने वाले तूफान चक्रवात कहे जाते हैं।

 

ऐसे होता था नामकरण

अंटलांटिक तूफान को यह नाम करीब 100 साल पहले दिया गया था। उस समय कैरेबियन द्वीप समूह के लोंगो ने एक दिन आए भयानक तूफान के बाद वहां के संत के नाम पर तूफान का नाम रखने का निर्णय लिया। जिससे इसके बाद उन्‍होंने रोमन कैथोलिक कैलेंडर के हिसाब से उसका नाम हरिकेन रखा क्‍योंकि जिस दिन चक्रवात आया था उस दिन वही दिन था। यह पद्धति करीब द्वितीय विश्‍वयुद्ध तक लगातार चलती रही। इसके बाद जब अर्थव्‍यवस्‍था और मौसम संबंधी भविष्‍यवाणियां शुरू हुई तो इन तूफानों का नाम महिलाओं के नाम से पहचाना जाने लगा।

 

बदलाव शुरू हुए

वहीं इस सबके बाद 1953 में यूएस के मौसम विभाग ने अधिकारिक रूप से एक नया फोनेटिक अल्‍फाबेट तैयार किया और उसकी घोषणा की। जिससे इनके नाम महिलाओं के A से W पर रखने शुरू किए। इस दौरान इस फोनेटिक अल्‍फाबेट से Q, U, X, Y Z को बाहर निकाल दिया। हालांकि इस दौरान 60 और 70 के दशक में महिलाओं इन नामों का कड़ा विरोध किया था। जिसके बाद 1978 में महिलाओं और पुरुषों दोनों के नाम पर इन तूफानों के नाम रखे जाने लगे। जिससे इसकी शुरुआत में पहले तो अंग्रेजी वर्णमाला के शुरुआती अक्षरों A और B पर नाम रखे गए। इसके बाद फिर कुछ वर्षों तक तूफानों के नाम महिलाओं और पुरुषों के नाम पर अजीबो गरीब रखे गए।

कृपया अगले पेज पर क्लिक करे–>>

loading...

Comments

Comments Below

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close