हिन्दू मंदिर : इस कुण्ड में डुबकी लगाने से धुल जायेंगे आपके सारे पाप, मिलेगा प्रमाण

Share

Pap se mukti pane ke upay in Hindi

loading...

हिन्दू मंदिर : इस कुण्ड में डुबकी लगाने से धुल जायेंगे आपके सारे पाप | Pap se mukti pane ke upay in Hindi : कहते हैं जिंदगी में मनुष्य जो पाप-पुण्य करता है उसे उसका हिसाब भी चुकाना पड़ता है. हिंदू धर्म की यही मान्यता है कि मनुष्य का यह व्यवहार समाज में उसे अच्छा-बुरा और लोक-परलोक में उसकी गति और दुर्गति का कारण बनता है. लेकिन आप इस पाप-पुण्य से इतना मत घबराएं, हम आपको ऐसे स्थान के बारे में बताने जा रहे हैं जहां आप एक डुबकी में पाप मुक्त हो जाएंगे. यही नहीं यहां आपको पाप मुक्त होने का प्रमाण पत्र तक दिया जाएगा. आगे पढ़ें, कहां है पापों से मुक्ति दिलाने वाला ये स्थान और पाप मुक्ति के प्रमाण पत्र की क्या होती है कीमत !

पाप मुक्ति वाला यह स्थान राजस्थान के प्रतापगढ़ जिले में है. यहां एक ऐसा मंदिर है जहां सरोवर में डुबकी लगाते ही पाप धुल जाते हैं.

प्रतापगढ़ का यह स्थान श्रीगौमतेश्वर महादेव पापमोचन तीर्थ स्थल के नाम से जाना जाता है. यहां पर आस्था की डुबकी लगाने के लिए हजारों की संख्या में हर रोज लोग पहुंचे हैं.

गौतमेश्वर महादेव पापमोचन तीर्थ पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को मंदिर में बने मंदाकिनी कुंड में डुबकी लगानी होती है. इसके बाद 11 रुपए का दान किया जाता है और तभी पाप मुक्ति का प्रमाण पत्र मिलता है. इस प्रमाण पत्र में पाप मुक्त होना प्रमाणित किया जाता है.

गौमतेश्वर महादेवी मंदिर में जिस भी श्रद्धालु को पाप मुक्ति का प्रमाण पत्र दिया जाता है उसका रिकॉर्ड दर्ज होता है. इस तरह से अंग्रेजों के जमाने से आज तक का सारा रिकॉर्ड मंदिर में रखा है.

गौतमेश्वर मंदिर के प्रति यहां के लोगों की गहरी आस्था और विश्वास है. यही नहीं जनजाती समुदाय के बीच इसे हरिद्वार की तरह माना जाता है.

लोक कथाओं की माने तो गौतम ऋषि एक जीव की हत्या पर श्राप भोग रहे थे. इस श्राप से मुक्ति तब हुई थी जब उन्होंने गौमतेश्वर महादेव मंदिर के कुंड में डुबकी लगाई थी. लोककथाओं में तब से यहां पाप मुक्ति के लिए डुबकी लगाने की परंपरा चली आ रही है.

 

 

लेटेस्ट अपडेट व लगातार नयी जानकारियों के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करे, आपका एक-एक लाइक व शेयर हमारे लिए बहुमूल्य है | अगर आपके पास इससे जुडी और कोई जानकारी है तो हमे publish.gyanpanti@gmail.com पर मेल कर सकते है |
Thanks!
(All image procured by Google images)

loading...

Comments

Comments Below

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close