एलर्जी से बचने के उपाय – Allergy Treatment in Hindi

Share
Allergy Se Bachne ke Upay in Hindi

Alerji Se Bachne Ke Upay1

कैसे बचें एेलर्जी अटैक से | Allergy Treatment in Hindi :

loading...

आंखों में पानी, बहती नाक, लगातार छींक और कमजोरी जैसे लक्षणों से तो आप वाकिफ होंगे ही, खासकर इन दिनों जब मौसम बदल रहा है और दिन बीतने के साथ ही हवा में नमी भी बढ़ती जा रही है। ऐसे में एेलर्जी की समस्या को नज़रअंदाज करना आपको इन्हीं परेशानियों की गिरफ्त में डाल देगा। लेकिन आपकी जरा सी सावधानी आपको एेलर्जी अटैक से आसानी से बचा सकती है।
अल-सुबह बाहर निकलने से बचें

अक्सर ये देखने में आया है कि तेज़ और शुष्क हवा के संपर्क में आने से लोग जल्दी एेलर्जी का शिकार हो जाते हैं। इस दौरान परागकण हवा के साथ-साथ तेजी से फैलते हैं। लिहाजा सुबह 5-10 बजे के बीच खुली हवा में निकलने से बचें। हालांकि एेलर्जी की दवा लेने के बाद सुबह की ताजा हवा का लुत्फ लिया जा सकता है।

 

1. स्नान करें

धूल और पराग के महीन कणों को नंगी आंखों से देख पाना बेहद मुश्किल होता है। ये आपके शरीर और कपड़ों से चिपक जाते हैं जो कि आपकी एेलर्जी का कारण बनते हैं। ऐसे में बाहर से आने के बाद शॉवर लेना बेहतर उपाय है।

 

2. ड्राइविंग के दौरान कार का शीशा बंद रखें

ड्राइविंग के दौरान गाड़ी का शीशा बंद रखने से आप बाहर की हवा के सीधे संपर्क में नहीं आ पाते हैं। नतीजतन आप कम से कम धूल और परागकणों को इनहेल करते हैं।

 

3.हाथों को धोना

एेलर्जी का एक और सबसे बड़ा कारण गंदे हाथों से अपने चेहरे को बार-बार छूना भी होता है। ऐसे में अपने हाथों को थोड़े-थोड़े अंतराल पर धोकर साफ करते रहना चाहिए, और बार-बार चेहरा छूने से बचना चाहिए।

 

4. ऐल्कॉहॉल से दूर रहें

एेलर्जी के दौरान ऐल्कॉहॉल लेने से बचें क्योंकि ये आपके नाक में म्यूकस का प्रॉडक्शन बढ़ा देता है। शुष्क हो जाने के कारण आपकी नाक के आस-पास की त्वचा दर्द के साथ उखड़ने भी लगती है। ये समस्या बार-बार नाक छूने से और बढ़ जाती है।

 

5. मास्क पहनें

धूलकणों के सीधे संपर्क में आने का एक और बेहतरीन उपाय मास्क पहनना है। खुली हवा में मास्क पहन कर निकलने से आप आसानी से एेलर्जी वाले धूल कणों से बच सकते हैं, क्योंकि वो मास्क के जरिए फिल्टर कर लिए जाते हैं। जापान में तो बड़े पैमाने पर रेस्पिरेटरी मास्क का प्रयोग किया जाता है। आप नाक और मुंह ढकने के लिए मास्क की जगह साधारण रुमाल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

6.एेलर्जी हो भी जाए तो क्या

और अगर तमाम उपायों के बाद भी आप एेलर्जी की चपेट में आ भी जाएं तो घबराने की जरूरत नहीं है। साधारण अटैक में आप ऐंटीहिस्टामाइन की एक डोज़ ले सकते हैं जबकि अगर समस्या ज्यादा गंभीर है, तो डॉक्टर को दिखाना ही सही उपाय है।

 

 

लेटेस्ट अपडेट व लगातार नयी जानकारियों के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करे, आपका एक-एक लाइक व शेयर हमारे लिए बहुमूल्य है | अगर आपके पास इससे जुडी और कोई जानकारी है तो हमे publish.gyanpanti@gmil.com पर मेल कर सकते है |
Thanks!
(All image procured by Google images)

loading...

Comments

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close