जानियें भगवान भैरव की जन्म कथा | Kaal Bhairav ki Janm Katha

Kaal Bhairav ki Janm Katha

bhairav janm katha

loading...

जानियें भगवान भैरव की जन्म कथा | Kaal Bhairav ki Janm Katha :

भैरव की उत्पत्ति 

ब्रह्मा और विष्णु में एक समय विवाद छिड़ा कि परम तत्व कौन है ? उस समय वेदों से दोनों ने पूछा :- क्योंकि वेद ही प्रमाण माने जाते हैं। वेदों ने कहा कि सबसे श्रेष्ठ शंकर हैं। ब्रह्मा जी के पहले पाँच मस्तक थे। उनके पाँचवें मस्तक ने शिव का उपहास करते हुए, क्रोधित होते हुए कहा कि रुद्र तो मेरे भाल स्थल से प्रकट हुए थे, इसलिए मैंने उनका नाम “रुद्र’ रखा है। अपने सामने शंकर को प्रकट हुए देख उस मस्तक ने कहा कि हे बेटा ! तुम मेरी शरण में आओ, मैं तुम्हारी रक्षा कर्रूँगा।
(स्कंद पुराण, काशी खण्ड अध्याय ३०)

कृपया अगले पेज पर क्लिक करे–>>

loading…


Comments

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close